Please Note : Govt has introduced concept of ‘Udyam Registration’ w.e.f. 01/07/2020 for existing registered under ‘EM-II’ & ‘Udyog Aadhar Memorandum - UAM’ as well as new MSME enterprises.




एमएसएमई रजिस्ट्रेशन की पूरी जानकारी

एमएसएमई रजिस्ट्रेशन की पूरी जानकारी


अगर आप इंटरनेट पे एमएसएमई रजिस्ट्रेशन के बारे में खोज रहे है तो आप बिलकुल सही जगह पर आये हो। आज हम आपको अपने इस ब्लॉग आर्टिकल में एमएसएमई से जुड़े सभी जानकारी आप को देंगे।

क्या है एमएसएमई?


एमएसएमई भारत सरकार द्वारा सूक्ष्म लघु और मध्यम आकार के व्यवसाय को सशक्त बनाने और एमएसएमई पंजीकरण के माध्यम से सरकारी लाभ प्रदान करने के लिए एक ढाँचा है।

एमएसएमई का मतलब माइक्रो स्माल मीडियम एंटरप्राइजेज है और इसे 2006 के एमएसएमई विकास अधिनियम, जिसे आमतौर पर एमएसएमईडी (MSMED) अधिनियम के रूप में जाना जाता है, द्वारा विनियमित किया गया है। इस क्षेत्र को भारतीय अर्थव्यवस्था की रीढ़ की हड्डी के रूप में देखा जाता है और यह 95% औद्योगिक इकाइयों, 45% नौकरियों, भारत के कुल निर्यात का 50% में योगदान देता है।

ध्यान दे: सरकार ने 1 जुलाई 2020 से MSME पंजीकरण की प्रक्रिया को पूरी तरह से बदल दिया है और अब इसे उद्यम रजिस्ट्रेशन के रूप में जाना जाता है।

एमएसएमई की परिभाषा


एंटरप्राइज टाइप इन्वेस्टमेंट इन प्लांट एंड मसिनेरी और इक्विपमेंट्स टर्नओवर
माइक्रो एंटरप्राइज 1 करोड़ रूपए से ज्यादा का निवेश नहीं होना चाइये सालाना टर्नओवर पांच 5 करोड़ रूपए से ज्यादा का नहीं होना चाइये
स्माल एंटरप्राइज 10 करोड़ रूपए से ज्यादा का निवेश नहीं होना चाइये सालाना टर्नओवर पांच 50 करोड़ रूपए से ज्यादा का नहीं होना चाइये
मध्यम एंटरप्राइज 50 करोड़ रूपए से ज्यादा का निवेश नहीं होना चाइये सालाना टर्नओवर पांच 250 करोड़ रूपए से ज्यादा का नहीं होना चाइये

एमएसएमई रजिस्ट्रेशन के लिए योग्यता


अगर आप सोल प्रोपेरिएटोरशिप, प्राइवेट लिमिटेड कंपनी, वन पर्सन कंपनी, पार्टनर शिप फर्म, लिमिटेड लायबिलिटी पार्टनर शिप, हिन्दू अनडिवाइडेड फैमिली, को ऑपरेटिव सोसाइटी, किसी से भी ताल्लुक रखते है तो आप आसानी से एमएसएमई रजिस्ट्रेशन करवा सकते है।

आप को अपने व्यवसाय के लिए एमएसएमई रजिस्ट्रेशन क्यों करवाना चाहिए


जाने क्या है एमएसएमई रजिस्ट्रेशन करवाने के फायदे

  1. आपको सरकारी योजनाओं का लाभ मिलेगा।

  2. बिना सुरक्षा के लोन दिया जाएगा।

  3. बैंक ऋण ब्याज दर, सरकारी पंजीकरण, बार कोड और पेटेंट पंजीकरण, आयकर और जीएसटी रिटर्न पर सब्सिडी प्रदान की जाएगी।

  4. पानी और बिजली बिल के भुगतान पर रियायत।

  5. डिफ़ॉल्ट और विलंबित भुगतानों से सुरक्षा।

  6. आईएसओ प्रमाण पत्र भुगतान पर संरक्षण।

एमएसएमई रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया


केवल पांच सरल चरणों में एमएसएमई रजिस्ट्रेशन करे:

चरण 1: सबसे पहले हमारे एमएसएमई रजिस्ट्रेशन पोर्टल पर जाएं।

चरण 2: वहा एमएसएमई फॉर्म में सभी विवरण सही से भरे।

चरण 3: अपने एमएसएमई रजिस्ट्रेशन आवेदन का ऑनलाइन भुगतान करें।

चरण 4: हमारे पंजीकरण अधिकारियों में से एक आपके एमएसएमई रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया के आवेदन को संशोधित करेंगे।

चरण 5: 1-2 घंटे के भीतर आपको अपने पंजीकृत ईमेल पते पर आपको एमएसएमई प्रमाण पत्र प्राप्त होगा।

ध्यान दे: सरकार के निर्देषानुसात सभी पुरानी पंजीकृत उद्योगों को 31st march 2021 से पहले नए उद्यम रजिस्ट्रेशन में पंजीकृत करवाना पड़ेगा। उद्योग जो इस नियम का पालन नहीं करेंगे उसका रजिस्ट्रेशन रद्द किया जायेगा। आप उद्यम री रजिस्ट्रेशन हमारे पोर्टल से आसानी से करवा सकते है।

आवश्यक दस्तावेज


  • आधार कार्ड

  • जीएसटीआईएन और पैन कार्ड (केवल कंपनी रजिस्ट्रेशन के लिए)

हमारा चयन क्यों करे?


Udyamregistration.co एक निजी सलाहकार कंपनी की संपत्ति है, जिसकी सेवा एमएसएमई रजिस्ट्रेशन से संबंधित सभी कार्य प्रदान करना है। हम अपने एमएसएमई पोर्टल में सिंगल-विंडोज़ पंजीकरण प्रणाली के माध्यम से एमएसएमई प्रक्रिया के तहत पंजीकृत होने वाले उद्यमी और स्टार्टअप की मदद करते हैं।

यदि आप के पास एमएसएमई से जुड़े कोई प्रश्न है तो आप हमसे udyamregistration.co पर संपर्क कर सकते है और हम जल्द ही आपकी सहायता करेंगे।